Nabard Dairy Loan Yojana 2024: सरकार दे रहीं हैं बिना गारंटी के 13 लाख की सब्सिडी

बेशक डेयरी उद्योग भारत में तेज़ी से विकास कर रहा है। क्योंकि यह न केवल ग्रामीण किसानों की आय का स्थिर स्रोत है बल्कि इससे दूध और दूध से बने उत्पादों की आपूर्ति भी होती है। अब डेयरी क्षेत्र के विकास को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक यानि नाबार्ड ने डेयरी लोन योजना की शुरुआत की है। 

इस योजना की मदद से किसान भाई अपने डेयरी बिज़नेस को शुरू करने या आगे बढ़ाने के लिए ऋृण प्राप्त कर सकते हैं जिसके साथ ही किसानों को सब्सिडी भी मिलेगी। ऐसे में अगर आप भी नाबार्ड डेयरी लोन योजना के बारे में सारी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें। 

नाबार्ड डेयरी लोन योजना क्या है?

डेयरी लोन योजना को राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक यानिकि नाबार्ड द्वारा शुरू किया गया है ताकि डेयरी उद्योग को बढ़ावा दिया जा सके। इस योजना के अनुसार किसान अपने डेयरी के व्यवसाय को शुरू करने के लिए या फिर संबंधित उपकरण खरीदने के लिए 13.20 लाख रुपए तक का लोन प्राप्त कर सकते हैं। 

सबसे ख़ास बात इस योजना के बारे में यह है कि ऋण के साथ-साथ पात्र लाभार्थियों 33.33% तक की सब्सिडी भी प्रदान की जाती है। इस लोन के साथ चारा काटने की मशीन, दूध निकालने की मशीन, दूध ठंडा करने के टैंक आदि खरीद पाएंगे जिससे दूध की क्वालिटी और भी बढ़ जाती है। 

नाबार्ड डेयरी लोन योजना का उद्देश्य 

नाबार्ड डेयरी लोन की इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की आय में वृद्धि करना है। क्योंकि इस योजना के माध्यम से किसान डेयरी संबंधित उपकरण खरीदने या फिर दुधारू गायों को खरीदने के लिए ऋृण प्राप्त कर सकते हैं जिसके साथ सरकार सब्सिडी सहायता भी देती है। 

अब जब इन उपकरणों स्थापना, देख-रेख और मुरम्मत आदि के लिए मजदूर आएंगे तो रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। इन उपकरणों की वजह से डेयरी उद्योग के आधुनिकीकरण को भी बढ़ावा मिलता है। कहना का मतलब है कि इस योजना को बहुआयामी उद्देश्यों के साथ चलाया जा रहा है। 

नाबार्ड डेयरी लोन योजना के लाभ एवं विशेषताएं 

डेयरी किसानों के मन में अक्सर यह सवाल आता है कि नाबार्ड डेयरी लोन योजना उनके लिए कितनी फायदेमंद है। ऐसे में बता दें कि यह योजना न केवल उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करती है, बल्कि यह किसानों के कारोबार को भी मज़बूत बनाएगी। चलिए इस योजना के कुछ प्रमुख फायदों के बारे में जानते हैं:

  • अपना डेयरी का व्यवसाय शुरू करने या व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए 13.20 लाख रुपए तक का लोन प्राप्त कर सकते हैं।
  • बाजार की तुलना में लोन की ब्याज दरें काफी कम रखी गई हैं। 
  • इस योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया बहुत ही आसान और सरल है। 
  • लोन के साथ साथ 33.33% तक की सब्सिडी भी मिलती है। 
  • 10 वर्ष की अवधि तक अपने लोन को चूका सकते हैं। 
  • यह लोन कुछ बीमा योजनाओं के साथ आता है जिससे वित्तीय सुरक्षा बनी रहती है। 

नाबार्ड डेयरी लोन योजना के लिए पात्रता 

निश्चित रूप से डेयरी किसानों के लिए यह योजना वरदान साबित हो सकती है। परंतु इस योजना का लाभ सभी को नहीं मिलने वाला। बल्कि इसके लिए कुछ पात्रता मानदंड शर्तें तय की गई हैं जिन्हें पूरा करना जरूरी है। चलिए इन सभी पात्रता मानदंडों के बारे में जानते हैं:

  • आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए। 
  • ग्रामीण क्षेत्रों के किसानों को इस योजना के लिए प्राथमिकता दी जाएगी। 
  • केवल एक ही बार इस योजना का लाभ उठाया जा सकता है। 
  • आयु आवेदक की 18 वर्ष से लेकर 60 वर्ष तक की होनी चाहिए। 
  • आवेदक ऋण राशि का 10-25% का मार्जिन मनी जमा करने की सक्षम होना चाहिए। 
  • डेयरी इकाई राज्य सरकार या स्थानीय निकाय द्वारा पंजीकृत होनी चाहिए। 
  • डेयरी व्यवसाय के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (DPR) तैयार होनी चाहिए।
  • अगर क्रेडिट स्कोर अच्छा हो तो लोन मिलने में और भी आसानी होगी। 

नाबार्ड डेयरी लोन योजना के लिए जरूरी दस्तावेज़ 

नाबार्ड डेयरी लोन योजना के आवेदन के समय दस्तावेज जमा करना एक बहुत ही जरूरी चरण होता है। क्योंकि यह सभी दस्तावेज़ आपकी पात्रता को जाहिर करते हैं। निम्न आप देख सकते हैं कि इस योजना के लिए कौन-कौन से दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता होगी:

  • आधार कार्ड 
  • पैन कार्ड 
  • वोटर आईडी कार्ड 
  • आय प्रमाण 
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो 
  • जाति प्रमाण पत्र (यदि आवश्यक हो)
  • डेयरी इकाई का पंजीकरण प्रमाण पत्र
  • डेयरी योजना की फोटोकॉपी 
  • स्व-घोषणा पत्र

Nabard Dairy Loan Yojana 2024 के लिए आवेदन कैसे करें?

देखिए इस बात से तो बिलकुल इनकार नहीं किया जा सकता कि अगर आप डेयरी उद्योग में अपना व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो तो नाबार्ड डेयरी लोन योजना आपके लिए बेहतरीन विकल्प साबित हो सकती है। निम्न बताए गए स्टेप्स के साथ आप इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं:

  1. सबसे पहले आपको ऐसी संस्था में जाना है, जो नाबार्ड डेयरी लोन की सुविधा प्रदान करती है। 
  2. वहां पर अधिकारीयों से अपने डेयरी फार्म प्लान के बारे में बात करें। 
  3. अगर अधिकारीयों को आपका प्लान उचित लगता है तो वे आपको एक फॉर्म प्रदान करेंगे। 
  4. इस फॉर्म में आपको अपनी सारी जानकारी सही सही दर्ज करनी है। 
  5. लोन संबंधित सभी जरूरी दस्तावेज़ों को भी साथ में अटैच कर दीजिये। 
  6. दस्तावेज़ों के साथ इस भरे हुए फॉर्म को आपने संस्थान में जमा करवा देना है। 
  7. अब अधिकारी आपके द्वारा दी जानकारी की अच्छे से जांच पड़ताल करेंगे। 
  8. आप अगर योग्य किसान पाए जाते हैं तो आपके बैंक खाते में लोन राशि जमा कर दी जाएगी। 

नाबार्ड डेयरी लोन योजना की ब्याज दरें 

बात अगर नाबार्ड डेयरी लोन योजना की ब्याज दरों के बारे में की जाए तो यह लोन राशि, अवधि और आपकी प्रोफाइल जैसे कई सारे कारकों पर निर्भर करती हैं। ऐसे में अब हम इस लोन योजना की सामान्य ब्याज दरों के बारे में जानेंगे:

लोन प्रकार  ब्याज दरें (प्रति वर्ष)
छोटे डेयरी यूनिट 6.5% से 7.5%
बड़े डेयरी उद्यम 7.5% से 8.5%
दुग्ध प्रसंस्करण और विपणन 8.0% से 9.0%

नाबार्ड डेयरी लोन योजना की सब्सिडी 

इस योजना के बारे में सबसे अच्छी बात ये है कि ऋृण के साथ साथ आपको सब्सिडी का भी लाभ होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नाबार्ड डेयरी लोन योजना की सब्सिडी 25% है। यानि अगर आप 10 लाख का लोन लेते हैं  तो 2.5 लाख की आपको सब्सिडी मिलने वाली है। 

बाकी ऋण के शेष ₹6.67 लाख का आपको भुगतान करना होगा। इससे नए किसानों पर वित्तीय बोझ काफी कम हो जाता है। हालांकि अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) किसानों के लिए यह सब्सिडी 33.33% तक होती है। 

नाबार्ड डेयरी लोन योजना के लाभार्थी 

नाबार्ड डेयरी लोन योजना का लक्ष्य है कि हर पात्र किसान तक इसका लाभ पहुंचाया जाए। इसे देखते हुए अब हम इस योजना के लाभार्थियों के बारे में विस्तार से जानने वाले हैं:

  • किसान
  • असंगठित क्षेत्र
  • गैर सरकारी संगठन (NGOs)
  • संगठित समूह
  • कंपनियां
  • उद्यमी

नाबार्ड डेयरी लोन योजना के तहत लोन देने वाली संस्थाएं 

अधिकांश लोग समझते हैं कि नाबार्ड डेयरी लोन को हम इसके आधिकारिक दफ्तर से ही प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है। इस लोन को कई सारी संस्थाओं द्वारा प्राप्त किया जा सकता है, जिनके बारे में जानकारी ये रही:

  • सरकारी बैंक
  • निजी क्षेत्र के बैंक
  • क्षेत्रीय बैंक
  • राज्य सहकारी बैंक
  • राज्य सहकारी कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (SCARDBs)
  • अन्य संस्थान जो नाबार्ड से पुनर्वित्त के लिए पात्र हैं (NGOs, माइक्रोफाइनेंस संस्थान (MFIs) आदि)

नाबार्ड डेयरी लोन की निवेश योजनाएं 

डेयरी लोन योजना के तहत राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक कई तरह के निवेश प्लान उपलब्ध करवाता है जिनमें से अपनी सुविधा के अनुसार प्लान को चुनकर आप अपना डेयरी संबंधित व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। चलो इन सभी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानते हैं:

S No. योजना का नाम निवेश
1 छोटे डेयरी यूनिट की स्थापना ₹5,00,000/
2 बछिया बछड़ों का पालन ₹80 लाख
3 वर्मीकंपोस्ट और खाद ₹20,000/- तक
4 दूध परीक्षक/दुध निकालने की मशीनें/फ्रिज ₹18 लाख तक
5 डेयरी प्रसंस्करण उपकरण ₹12 लाख तक
6 डेयरी उत्पाद परिवहन और शीत श्रृंखला ₹24 लाख तक
7 दूध और दुग्ध उत्पादों के लिए शीत भंडारण ₹30 लाख तक
8 निजी पशु चिकित्सा क्लिनिक मोबाइल: ₹2.40 लाख, स्थिर: ₹1.80 लाख
9 डेयरी मार्केटिंग आउटलेट/डेयरी पार्लर ₹56,000/-

 

Nabard Dairy Loan Yojana संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

नाबार्ड डेयरी लोन योजना का हेल्पलाइन नंबर क्या है?

अगर आपको इस योजना से संबंधित किसी तरह की समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो आप नाबार्ड के हेल्पलाइन नंबर (91) 022-26539895/96/99 पर संपर्क कर सकते हैं। 

अगर मेरा क्रेडिट स्कोर कम है तो क्या मुझे Nabard Dairy Loan Yojana मिल सकता है?

अगर आप पहली बार लोन लेने जा रहे हैं और आपका क्रेडिट स्कोर कम है तो आपको लोन मिल सकता है। लेकिन अगर पहले ही आपके ऊपर लोन बकाया हैं और क्रेडिट स्कोर भी कम है तो आपको लोन नहीं मिल पाएगा। 

क्या मैं इस योजना के तहत ऋण के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकता हूं?

कुछ बैंक और संस्थान Nabard Dairy Loan Yojana के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा प्रदान करते तो हैं। लेकिन अंतिम चरणों को पूरा करने के लिए आपको संस्थान में ही जाना होगा। 

अपने नाबार्ड लोन को कितने समय तक चूका सकते हैं?

आप 10 साल की अवधि तक अपने नाबार्ड लोन को चूका सकते हैं। 

Leave a Comment